Wednesday, July 17, 2024

Creating liberating content

MS Dhoni Car Collection: देख कर आपके...

भारत में, चाहे वो सेलिब्रिटी हो, क्रिकेटर हो या बिजनेसमैन, इन सभी क्षेत्रों...

जानिए आखिर क्यों मोदी से चिढ़ते है...

हरियाणा में जन्मे dhruv rathee ने जर्मनी के कार्सलरुए इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से...

Bihar Vidhan Parishad Result 2023 Out: बिहार...

2023 में बिहार विधान परिषद प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम घोषित, यहां देखें। उन...

Chandigarh JBT Teacher Vacancy Recruitment 2024: चंडीगढ़...

Chandigarh JBT teacher vacancy Recruitment 2024: चंडीगढ़ के शिक्षा विभाग ने 2024 में...
HomeSportsएक बार फिर से...

एक बार फिर से टकराये Neeraj Chopra and Arshad Nadeem ओलंपिक्स में जानिए किसने मारी बाजी?

- Advertisement -

Neeraj Chopra and Arshad Nadeem ने नौ अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में भाग लिया है, जिसमें सात बार उन्होंने सीनियर स्तर पर और दो बार जूनियर स्तर पर मुकाबला किया है।

प्रत्येक वैश्विक एथलेटिक्स प्रतियोगिता के साथ, भारतीय ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा और पाकिस्तान के राष्ट्रमंडल खेलों के चैंपियन अरशद नदीम के बीच प्रतिद्वंद्विता विश्व एथलेटिक्स में एक रोमांचक मुकाबला आ रहा है।

दो पड़ोसी देशों के एथलीटों के बीच प्रतिद्वंद्विता और एक साझा इतिहास हमेशा विभिन्न खेलों के सबसे दिलचस्प पहलुओं में से एक रहा है। भारत और पाकिस्तान के बीच, चाहे क्रिकेट हो, हॉकी हो या कोई अन्य खेल हो, यह प्रतिद्वंद्विता हमेशा सुर्खियों में रही है और महत्वपूर्ण रूप से बनी रही है।”

एथलेटिक्स का पुराण इतिहास फिर दुहराया 

एथलेटिक्स के क्षेत्र में, 1960 के दशक में भारतीय ट्रैक के महान खिलाड़ी मिल्खा सिंह और पाकिस्तान के अब्दुल खालिक के बीच एक अद्वितीय भारत-पाकिस्तान संघर्ष हुआ था। नीरज और अरशद के बीच की यह द्विपक्षीय दुश्मनी भी धीरे-धीरे बढ़ती जा रही है।

- Advertisement -

नीरज ने अपने कार्यक्षेत्र में उन्नतियों के साथ भारत में एक प्रमुख नाम बना लिया है, और उन्होंने ओलंपिक, राष्ट्रमंडल खेल, एशियाई खेल, डायमंड लीग, और आखिरकार विश्व एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक जीता है, जो उन्हें इस खेल से मिला। उनके प्रयासों ने भारतीय एथलेटिक्स को विश्व मानचित्र पर महत्वपूर्ण स्थान पर पहुँचाया है।

जबकि अरशद के पदक संख्या में विशेष बड़ी तरक्की नहीं हो सकती, वह फिर भी पहले पाकिस्तानी एथलीट हैं जिन्होंने विश्व चैम्पियनशिप में पदक जीतने का मानद दर्जा प्राप्त किया है, और वह रजत पदक जीते हैं, 

जबकि नीरज ने भारत के लिए ऐतिहासिक स्वर्ण पदक जीता। नीरज के 88.17 मीटर के श्रेष्ठ थ्रो और अरशद के 87.82 मीटर के श्रेष्ठ प्रयास के बीच एक मीटर से भी कम का अंतर था। पिछले साल, नदीम ने बर्मिंघम में राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक के साथ पाकिस्तान के 60 साल के इंतजार को भी समाप्त किया था।

कांटे की टक्कर रही Neeraj Chopra and Arshad Nadeem दोंनो खिलाडियों के बीच 

ओलंपिक.कॉम  के अनुसार, दोनों खिलाड़ियों ने नौ अंतरराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में साथियों के साथ मुकाबला किया है, सात बार वरिष्ठ स्तर पर और दो बार किशोर स्तर पर।

इन दोनों खिलाड़ियों की पहली मुलाकात 2016 में दक्षिण एशियाई खेलों में गुवाहाटी में हुई थी, जहां नीरज ने स्वर्ण पदक जीता और नदीम को कांस्य पदक प्राप्त हुआ था। वर्तमान में, नीरज ने नदीम पर 9-0 की बड़ी अग्रता हासिल की है।

सम्पूर्ण गणना में, नीरज के प्रभाव के बावजूद, अरशद 2018 के बाद से भारतीय महान खिलाड़ियों के प्रदर्शन के बड़े क़रीब आ रहे हैं और आने वाले साल में पेरिस ओलंपिक के लिए उनके विजय के लिए एक बड़ा खतरा हो सकता है।

- Advertisement -

अरशद ने भी किया कड़ा मुकाबला 

पाकिस्तान के अरशद इंडिविजुअल थ्रो में नीरज सफलता के सफर में आगे बढ़ गए हैं, उन्होंने 2022 के राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान 90.18 मीटर का योगदान किया, जिससे वे स्वर्ण पदक जीते। 

इस प्रयास से वे तुरंत विश्व चैम्पियन ग्रेनाडा के एंडरसन पीटर्स को प्रबलित कर दिया। चोट के कारण, नीरज इस प्रतियोगिता में भाग नहीं ले सके थे। 

2017 वर्ल्ड अंडरसाइड में चीन के ताइपे के चाओ-त्सुन चेंग के 91.26 मीटर के थ्रो के बाद, यह केवल दूसरी बार था, जब किसी दक्षिण एशियाई खिलाड़ी ने 90 मीटर का प्राप्ति दर्ज किया।

हालांकि, नीरज अब तक इस प्रसिद्ध 90 मीटर के मील प्राप्ति का पार नहीं कर पाए हैं, 2022 स्टॉकहोम डायमंड लीग में उनके व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ 89.94 मीटर को भी एक राष्ट्रीय रिकॉर्ड के रूप में दर्ज किया गया है।

- Advertisement -

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- A word from our sponsors -

Most Popular

More from Author

- A word from our sponsors -