Wednesday, July 17, 2024

Creating liberating content

MS Dhoni Car Collection: देख कर आपके...

भारत में, चाहे वो सेलिब्रिटी हो, क्रिकेटर हो या बिजनेसमैन, इन सभी क्षेत्रों...

जानिए आखिर क्यों मोदी से चिढ़ते है...

हरियाणा में जन्मे dhruv rathee ने जर्मनी के कार्सलरुए इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से...

Bihar Vidhan Parishad Result 2023 Out: बिहार...

2023 में बिहार विधान परिषद प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम घोषित, यहां देखें। उन...

Chandigarh JBT Teacher Vacancy Recruitment 2024: चंडीगढ़...

Chandigarh JBT teacher vacancy Recruitment 2024: चंडीगढ़ के शिक्षा विभाग ने 2024 में...
HomeGovt SchemesCentralPM Fasal Bima Yojana...

PM Fasal Bima Yojana 2023: कब मिलेगी क्लेम राशि और कब मिलेगा पैसा जानिए पूरी जानकारी और उठाये पूरा लाभ

- Advertisement -

PM Fasal Bima Yojana ने देश के किसानों के लिए सुरक्षा उपलब्ध करने का मिशन आरंभ किया है। इस योजना के तहत, सरकार द्वारा किसानों की फसल की खराबी पर बीमा कवर प्रदान की जाती है, जिससे फसल की नुकसान होने पर उन्हें वित्तीय सहारा मिलता है। 

इसके अलावा, यह योजना प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के नाम से नई योजनाओं के रूप में उत्कृष्ट कार्य कर रही है। पूर्व योजनाओं जैसे नेशनल एग्री इंश्योरेंस स्कीम और मॉडिफाई एग्री इंश्योरेंस स्कीम की तुलना में, इसमें काफी सुधार किए गए हैं। इन पुरानी योजनाओं में सबसे बड़ी दिक्कत लंबी दावा प्रक्रिया में थी, जिससे किसानों को फसल की नुकसान की मान्यता प्राप्त करने में काफी मुश्किलात का सामना करना पड़ता था। इसी कारण, 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना ने इन दो पुरानी योजनाओं की जगह ली है और एक बेहतर विकल्प प्रस्तुत किया है। अब यदि आप भी एक किसान हैं और फसल बीमा योजना का लाभ लेना चाहते हैं, तो आपको इस लेख को ध्यान से पढ़ना होगा ताकि आप इस सुविधा से जुड़ सकें।  

PM Fasal Bima Yojana 2023

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसानों के भले के लिए प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की शुरुआत की है। इस योजना का आरंभ 13 मई 2016 को मध्यप्रदेश के सेहोर से किया गया था। प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत, यदि किसी किसान की फसल में कोई कमी होती है, तो उसके लिए बीमा कवर प्रदान करने का प्रावधान है। 

- Advertisement -

प्रत्येक किसान की आर्थिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए प्रीमियम राशि को काफी कम रखा गया है। केंद्र सरकार ने इस योजना की शुरुआत से अब तक 36 करोड़ किसानों को बीमा कवर प्रदान किया है।

अब तक, प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के माध्यम से किसानों को 1.8 लाख करोड़ रुपए का बीमा मुआवजा प्रदान किया गया है। इस योजना का उद्देश्य किसानों को अधिक से अधिक लाभ पहुंचाना है, ताकि प्राकृतिक आपदा के कारण होने वाले नुकसान का मुआवजा किया जा सके। जल्द ही सरकार द्वारा किसानों को फसल बीमा पॉलिसी प्रदान करने के लिए ‘घर-घर मित्र’ अभियान आरंभ किया जाएगा, ताकि बिना किसी परेशानी के अधिक से अधिक किसानों को इस योजना का लाभ पहुंच सके।

PM Fasal Bima Yojana के उद्देश्य

नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई प्रधानमंत्री फसल बीमा {DBY} योजना का मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक आपदा से प्रभावित हुए किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है। इससे किसानों को नवीन और आधुनिक कृषि तकनीकों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया जाए और उनकी आय में स्थिरता आए। 

यह योजना किसानों को फसलों के नुकसान पर विभिन्न धनराशि प्रदान करने के लिए है, जिससे उनकी खेती में निरंतरता सुनिश्चित हो। इस योजना के अंतर्गत, सरकार द्वारा किसानों को फसल के नुकसान पर वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है, जिससे देश के किसान इसका लाभ उठा सकते हैं और आवेदन भी कर सकते हैं।

72 घंटे के भीतर जानकारी देनी जरूरी 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत, प्राकृतिक आपदा के कारण फसल में कोई हानि होने पर किसानों की जिम्मेदारी है कि वे 72 घंटे के भीतर कृषि विभाग को फसल के नुकसान की जानकारी दें। इसके अलावा, किसान को एक लिखित शिकायत जिला प्रशासन एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट में देनी चाहिए और अपने फसल के नुकसान का पूरा विवरण लिखकर देना होता है। 

शिकायत प्राप्त होते ही, जिला प्रशासन एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट द्वारा कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद, सूचना बीमा कंपनी को तुरंत दी जाती है, जिसके बाद बीमा कंपनी द्वारा सूचना प्राप्त होने पर किसान के बीमा कवर की प्रक्रिया शुरू होती है। क्या इस योजना का लाभ पाने के लिए आयुष्मान कार्ड होना जरुरी है ..?

- Advertisement -

PM Fasal Bima Yojana में मिलने वाली क्लेम राशि

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से लाभ पाने के लिए किसानों को नुकसान का दावा करना होता है। यदि प्राकृतिक आपदा से फसल क्षति होती है या फिर किसी अन्य कारण से फसल कम होती है, तो किसान बीमा का दावा कर सकता है। 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत फसलों के लिए विभिन्न राशियों का निर्धारण किया गया है। कपास की फसल के लिए अधिकतम 36,282 रुपए प्रति एकड़ के हिसाब से दावा किया जा सकता है। धान की फसल के लिए 37,484 रुपए, बाजरा की फसल के लिए 17,639 रुपए, मक्का की फसल के लिए 18,742 रुपए और मूंग की फसल के लिए 

PM Awas Yojana 2023 का ऑनलाइन आवेदन @ pmaymis.gov.in पर करें: सभी इच्छुक लोगों के लिए पीएमएवाई ऑनलाइन फॉर्म 2023 उपलब्ध है। लोग प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ इस फॉर्म से ले सकते हैं। इसमें प्रधानमंत्री आवास योजना फॉर्म भरने और 2023 के ऑनलाइन पंजीकरण के विकल्पों का विवरण है।

16,497 रुपए का बीमा दावा किया जा सकता है। यह दावा राशि किसानों के बैंक खाते में भेजी जाती है जब सर्वे में फसल की क्षति पुष्टि होती है।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के मुख्य बिंदु

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना” के अंतर्गत, किसानों को प्राकृतिक आपदा से हुए फसल का क्षति होने पर बीमा राशि प्रदान की जाती है।
  • इस योजना में, रबी फसलों के लिए किसानों से 1.5%, खरीफ फसलों के लिए 2%, और वाणिज्यिक और बागवानी फसलों के लिए 5% प्रीमियम वसूला जाता है।
  • किसान अपने द्वारा फसल का बीमा करने पर बहुत कम प्रीमियम देना पड़ता है।
  • सरकार द्वारा अधिकतम प्रीमियम भराया जाता है ताकि किसान को बीमा कवर प्राप्त करने में कोई भी रुकावट न हो, और इससे आपदा में हुई क्षति की मुआवजा आसानी से हो सके।
  • फसल काटने के बाद यदि 14 दिन तक फसल खेत में है और उस समय नुकसान का याद आ जाता है, तो ऐसे में किसान को मुआवजा प्राप्त हो सकता है।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में टेक्नोलॉजी का व्यापक उपयोग किया जाता है ताकि संबंधित समय पर निपटान के लिए इसका कम उपयोग किया जा सके।
  • “एग्रीकल्चर इंडिया इंश्योरेंस कंपनी” द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का प्रबंधन किया जाता है।
  • इस योजना के तहत, बजट 2016-17 में  5550 करोड़ रुपए का आवंटन किसानों को किया गया था।
  • इस योजना की शुरुआत से अब तक, 36 करोड़ किसानों का बीमा कर दिया गया है।

PM Fasal Bima Yojana  में कौन-कौन सी फसलें शामिल हैं

1. खाद्य फसलें (अनाज-धान, गेहूं, बाजरा आदि)

2. वार्षिक वाणिज्यिक (कपास, जूट, गन्ना आदि)

3. दलहन (अरहर, चना, मटर, मसूर, सोयाबीन, मूंग, उरद, लोबिया आदि)

- Advertisement -

4. तिलहन (तिल, सरसों, अरंडी, बिनौला, मूँगफली, सोयाबीन, सूरजमुखी, तोरिया, कुसम, अलसी, नाइजरसीड्स आदि)

5. बागवानी फसलें (केला, अंगूर, आलू, प्याज, कसावा, इलायची, अदरक, हल्दी, सेब, आम, संतरा, अमरूद, लीची, पपीता, अननास, चीकू, टमाटर, मटर, फूलगोभी)

PM Fasal Bima Yojana  के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करें?

सबसे पहले, आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। जब आप वहाँ पहुंचेंगे, तो आपके सामने होम पेज दिखेगा। इस होम पेज पर, “किसान कॉर्नर कृषि बीमा आवेदन करें” वाले ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। इसके बाद, आपके सामने किसान आवेदन पेज दिखेगा। यहां आपको “मेहमान किसान” वाले ऑप्शन पर क्लिक करना होगा। इसे क्लिक करने पर, आपके सामने पंजीकरण फॉर्म दिखेगा। इस फॉर्म में आपको मांगी गई सभी आवश्यक जानकारी को ध्यान से भरना होगा, जैसे –

  • Farmer Details,
  • Residential Details,
  • Farmer ID,
  • Account Details

आपको आवश्यक जानकारी देने के बाद, आपको निम्नलिखित कैप्चा कोड भी दर्ज करना होगा। इसके बाद, आपको “सबमिट” विकल्प पर क्लिक करना होगा। इस प्रकार, आपका आवेदन सम्पूर्ण हो जाएगा।

PM Fasal Bima Yojana में किसी फसल की बीमा राशि और प्रीमियम कैसे देखें?

[PM kisan AP gov in status check online]

  • सबसे पहले, आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वहां, आपके सामने वेबसाइट का होम पेज दिखेगा। इस पर, आपको ‘बीमा प्रीमियम कैलकुलेटर’ विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • इसके बाद, आपके सामने एक नया पृष्ठ खुलेगा। इस पृष्ठ पर, आपको प्रीमियम कैलकुलेट करने से संबंधित सभी जानकारी दर्ज करनी होगी। जैसे कि फसल का सीजन (रबी/खरीफ), वर्ष, स्कीम का नाम, आपके राज्य का नाम, जिला और फसल का चयन करना होगा।
  • इसके बाद, आपको अपने खेत का क्षेत्रफल हेक्टेयर में दर्ज करना होगा।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद, आपको ‘कैलकुलेट’ विकल्प पर क्लिक करना होगा।
  • जैसे ही आप क्लिक करेंगे, आपके सामने आपकी फसल की बीमा राशि और प्रीमियम की जानकारी आ जाएगी।
  • इसी तरह, आप आसानी से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में किसी फसल की बीमा राशि और प्रीमियम की जांच कर सकते हैं।

PM Fasal Bima Yojana  के लिए ऑफलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया

यदि कोई किसान स्वयं ऑनलाइन आवेदन नहीं कर सकते, तो वे फसल बीमा के लिए ऑफलाइन तरीके से आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने की ऑफलाइन प्रक्रिया निम्नलिखित है, जिसे अपनाकर आप आसानी से आवेदन कर सकते हैं।

  • फसल बीमा के लिए ऑफलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको अपने निकटतम बैंक जाना होगा।
  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए आवेदन फॉर्म प्राप्त करने के लिए आपको वहाँ जाना होगा।
  • इसके बाद आपको आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी आवश्यक जानकारी को ध्यान से भरना होगा।
  • सभी जानकारी भरने के बाद आपको फॉर्म में मांगे गए आवश्यक दस्तावेजों को संलग्न करना होगा।
  • इसके बाद आपको यह आवेदन फॉर्म वापस बैंक में ही जमा करना होगा।
  • आवेदन फॉर्म जमा करने के बाद आपको आवेदन की पर्ची दी जाएगी, जिसे आपको भविष्य के लिए सुरक्षित रखना होगा।
  • इस रीति से आपकी ऑफलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।
  • इसके अलावा, आप चाहें तो अपने निकटतम जन सेवा केंद्र पर जाकर या बीमा कंपनी में भी ऑफलाइन फसल बीमा के लिए आवेदन कर सकते हैं।
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- A word from our sponsors -

Most Popular

More from Author

- A word from our sponsors -