Wednesday, July 17, 2024

Creating liberating content

MS Dhoni Car Collection: देख कर आपके...

भारत में, चाहे वो सेलिब्रिटी हो, क्रिकेटर हो या बिजनेसमैन, इन सभी क्षेत्रों...

Bihar Vidhan Parishad Result 2023 Out: बिहार...

2023 में बिहार विधान परिषद प्रारंभिक परीक्षा का परिणाम घोषित, यहां देखें। उन...

Chandigarh JBT Teacher Vacancy Recruitment 2024: चंडीगढ़...

Chandigarh JBT teacher vacancy Recruitment 2024: चंडीगढ़ के शिक्षा विभाग ने 2024 में...

Open Book Exam, CBSE ने कक्षा 9वीं...

What is an Open Book Exam? Open Book Exam: हाल की रिपोर्ट्स के अनुसार,...
HomeNewsजानिए आखिर क्यों मोदी...

जानिए आखिर क्यों मोदी से चिढ़ते है ध्रुव राठी ? Why dhruv rathee exposed BJP

- Advertisement -

हरियाणा में जन्मे dhruv rathee ने जर्मनी के कार्सलरुए इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से मैकेनिकल इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री और अक्षय ऊर्जा में मास्टर डिग्री हासिल की। 2013 में यूट्यूब पर यात्रा व्लॉग बनाकर शुरूआत करने वाले ध्रुव जल्द ही राजनीतिक और सामाजिक मुद्दों पर वीडियो बनाने लगे। वह अपने वीडियो में तथ्यों और आंकड़ों का इस्तेमाल कर मुद्दों की गहराई से जांच करते हैं।

dhruv rathee भारतीय यूट्यूबर हैं जो सोशल, राजनीतिक और पर्यावरणीय मुद्दों पर बेबाकी से बोलने के लिए जाने जाते हैं। उनके यूट्यूब चैनल पर 18.5 मिलियन से ज्यादा सब्सक्राइबर हैं और उनके वीडियो को कुल मिलाकर 7 बिलियन बार देखा जा चुका है।

चर्चा में रहने वाले वीडियो

Dhruv rathee ने मोदी सरकार के कार्यों, 2022 के मोरबी पुल हादसे, पुलवामा हमले और 2023 के पहलवानों के विरोध प्रदर्शन जैसे कई अहम मुद्दों पर वीडियो बनाए हैं। उनके हल्के-फुल्के वीडियो सीरीज ‘पी न्यूज़’ में वे व्यंग्यात्मक तरीके से फेक न्यूज का पर्दाफाश करते हैं।

2024  लोकसभा चुनाव के लिए ध्रुव ने अपने चैनल पर मोदी सरकार को लेकर Dictator नाम से दो वीडियो बनाये है जिनका दोनों के व्यूज मिलकर 54 मिलियन हो चुका है।  उनके ये वीडियो विपक्षी पार्टियों और कई सरकारी आलोचकों के द्वारा सोशल मीडिया साइट “X” पर बहुत तेज़ी से शेयर किये जा रहे है।  

- Advertisement -

क्या है सरकार और ध्रुव के समर्थको का कहना ?

सरकर के समर्थक ये मानते है की ध्रुव एक विपक्षी पार्टी का नेता है और विपक्ष से पैसे लेकर अपने सारे वीडियो बनता है जबकि dhruv rathee ने अपने बहुत से वीडियो में यह साफ़ किया है की वो किसी भी पक्ष या विपक्ष के पार्टी से नहीं जुड़ा हुआ है।  

Dhruv rathee के समर्थक यह मानते है की वह एक खुली हुई सोच वाला इंसान है जिसे अपने आप-पास के लोगो और देश की चिंता है और वो इसे अपने कई वीडियो के द्वारा बता भी चुके है।  ध्रुव अपने चैनल पर अक्सर कई एजुकेशनल वीडियो को डालते है जिससे लोगो में हर तरह के विषयों को लेकर सोच बढे। 

मौजूदा सरकर पर प्रति क्या है ध्रुव का रुख ? Why dhruv rathee exposed BJP

 जब उनसे एक इंटरव्यू में मौजूदा सरकार के प्रति उनकी सोच की बात की गयी तो उन्होने साफ़ शब्दों में कहा

 की “ये सरकार तानाशाही की सरकार है “ जब उनसे इस बात के तथ्य मांगे  गए तो उन्होंने ये तर्क दिए :

जैसा कि हम सभी देख रहे हैं, हमारा प्यारा देश तानाशाही बनने के गंभीर खतरे में है –

  •  मीडिया बिक चुका है
  •  मणिपुर जल रहा है
  •  चंडीगढ़ और सूरत में चुनावी धोखाधड़ी से लाखों लोगों के लोकतांत्रिक अधिकार छीन लिए गए
  •  बाबा साहेब अंबेडकर के संविधान को बदलने कि घोषणा की जा रही है
  •  किसानों पर रबड़ की गोलियां और आंसू गैस चलाई गई
  •  हमारे ओलंपिक पहलवानों को एक बलात्कारी के खिलाफ प्रदर्शन करने पर पीटा गया
  •  विपक्षी नेता जैसे कि अरविंद केजरीवाल और हेमंत सोरेन को बिना किसी सबूत के जेल में डाल दिया गया
  •  केजरीवाल को इन्सुलिन समय पर नहीं दिया, जान से मारने की कोशिश है 
  •  सुप्रीम कोर्ट के जजों पर दबाव है
  •  ईडी और सीबीआई बीजेपी के वाशिंग मशीन के कठपुतली बन गए हैं
  •  बलात्कारियों का मालाओं से स्वागत किया जा रहा है
  •  भारत के इतिहास में सबसे बड़ा घोटाला – इलेक्टोरल बॉन्ड घोटाला जनता से छिपाया गया

भारत विश्व का सबसे बड़ा लोकतंत्र हैं लेकिन अब विश्व की सबसे बड़ी तानाशाही बनने के कगार पर है । ज़रा सोचिए भगत सिंह, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, बाबा साहेब अंबेडकर और गांधीजी क्या सोचेंगे आज देश की यह हालत देख कर? क्या इसी दिन के लिए उन्होंने अपनी क़ुर्बानी दी थी? एक सत्ता के भूके राजनेता के लिए हम ये विरासत नहीं खो सकते। बहुत महत्वपूर्ण है कि हम भारत के लोग जागें इससे पहले कि देर हो जाए।

- Advertisement -

मोदी नहीं तो फिर कौन ?

जब ध्रुव से पुछा गया की जब देश के पास कोई अच्छा विपक्षी नेता नहीं है और और मोदी ही इस समय सबसे ताकतवर नेता है, और वो जब वोट देने जाए तो वो किसका चेहरा देख कर वोट दे ?

इस पर हंस कर ध्रुव ने कहा की आपको किसी का चेहरा देख कर वोट ही क्यों देना है ? क्या आपके पास कोई मुद्दा ही नहीं है? क्या देश में कोई समस्यां ही नहीं है? क्या आपके घर में महंगाई नहीं है ? क्या आपको  पेट्रोल और तेल सस्ता मिल रहा है? क्या आपकी इनकम डबल हो गयी है ? क्या देश के सभी पढ़े लिखे युवाओ को नौकरी मिल गयी है ? या फिर देश में सबको बराबरी का दर्ज़ा मिल गया है?  dhruv rathee ने आगे कहा अगर आपको वोट देना ही है तो –

  •  शिक्षा के लिए वोट दें
  •  किसानों के लिए वोट दें
  •  महिलाओं के अधिकारों के लिए वोट दें
  •  पहलवानों के लिए वोट दें
  •  नौकरियों के लिए वोट दें
  •  स्कूलों के लिए वोट दें
  •  मणिपुर के लिए वोट दें
  •  लद्दाख के लिए वोट दें
  •  ऐसे नेता के लिए वोट दें जिनमें प्रेस कॉन्फ्रेंस देने की हिम्मत हो
  •  ऐसे नेता के लिए वोट दें जो झूठी गारंटियाँ न देता हो 
  •  ऐसे नेता के लिए वोट दें जो पढ़ा लिखा और विनम्र हों

और सबसे महत्वपूर्ण:

 लोकतंत्र के लिए वोट दें

 इंडिया के लिए वोट दें 🇮🇳

उन्होंने आगे यह भी कहा की अगर भारत पूरी तरह से तानाशाही बन जाता है तो,

भविष्य में, आपकी आवाज हमेशा के लिए दबा दी जाएगी। सोशल मीडिया पूरी तरह से सरकार द्वारा नियंत्रित होगा। किसी भी मुद्दे पर कभी भी प्रदर्शन की अनुमति नहीं होगी। आप क्या खाते हैं, क्या पहनते हैं, क्या देखते हैं, यह सब सरकार द्वारा नियंत्रित होगा। जो सूरत और चंडीगढ़ में हुआ, वो पूरे हिंदुस्तान में होगा – ‘एक राष्ट्र शून्य चुनाव’। जो कोई भी अपनी आवाज उठाएगा उसे जेल होगी। भारत उत्तर कोरिया की तरह बन जाएगा। लेकिन आपका एक वोट  यह सब बदल सकता है ।  

आखिर क्यों की dhruv rathee ने क्यों मोदी सरकार को बेनकाब करने की कोशिश ? 

Why dhruv rathee exposed BJP: विपक्ष की सभी पार्टियों ने इलेक्टोरल बॉन्ड को लेकर बीजेपी और केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने इसे एक अपराध माना और कहा कि बीजेपी सरकार ने निजी कंपनियों का सिर्फ इस्तेमाल किया है। कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने बीजेपी को चार तरीकों से घोटाला करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि इसका मतलब है कि पहले ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स को कंपनी के खिलाफ छोड़ो और उससे बचने के लिए ये कंपनियां इलेक्टोरल बॉन्ड खरीदेंगी और बीजेपी को चंदा देगी।

- Advertisement -

जयराम रमेश ने कहा कि साल 2014 में प्रधानमंत्री बार-बार लंबे-चौड़े भाषण करते थे कि मैं फर्जी कंपनियों को बंद कर दूंगा, लेकिन इस इलेक्टोरल बॉन्ड घोटाले में फर्जी कंपनियों के भरपूर इस्तेमाल किया गया है। बड़े तौर पर 38 कॉरपोरेट ग्रुप हैं, जिन्हें पिछले 6 महीने में मोदी सरकार से 179 कॉन्ट्रैक्ट मिले हैं। इन्हीं 38 ग्रुप ने 2000 करोड़ रुपये का बॉन्ड खरीदा है। PM मोदी के घोटाले के 4 रास्ते थे: 1. चंदा दो-धंधा लो 2. हफ्ता वसूली 3. कॉन्ट्रैक्ट लो-रिश्वत दो 4. शेल कंपनी बनाओ और चंदा देते जाओ।

गलतबयतानी की आदत हो गयी है प्रधानमंत्री मोदी को 

ध्रुव ने मोदी को एक झूठा प्रधानमंत्री भी कहा और ये भी कहा की देश में आज़ादी के बाद के अगर कोई सबसे झूठा प्रधानमंत्री हुए है तो वो है नरेंद्र मोदी।  इलेक्टोरल बांड स्कैम का झूठा पकड़ा जाने पर मोदी फिर बेशर्मो की तरह अपनी सभी चुनावी रैलियों में सफ़ेद झूठ बोलते नज़र आ रहे है।  अभी हाल ही में उन्होंने बांसवाड़ा की रैली में अल्पसंख्यकों  के बारे में बहुत बड़ा झूठ बोलै है। 

चुनाव आयोग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बांसवाड़ा में किए गए बयान की जांच शुरू की है। पीएम मोदी ने राजस्थान के बांसवाड़ा में कहा था कि अगर कांग्रेस सत्ता में आई तो लोगों की संपत्ति को ज्यादा बच्चे वालों में बांट देगी। इसके साथ ही, पीएम ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की टिप्पणी का भी जिक्र किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि देश के संसाधनों पर पहला अधिकार अल्पसंख्यकों का है।

पीएम के इस बयान के खिलाफ कांग्रेस और सीपीआई-एम ने चुनाव आयोग में अलग-अलग शिकायतें दर्ज कराईं। कांग्रेस ने चुनाव आयोग से अपील की कि पीएम मोदी के ‘संपत्ति का बंटवारा’ वाले बयान पर कार्रवाई की जाए। कांग्रेस ने इस बयान को विभाजनकारी, दुर्भावनापूर्ण, और विशेष समुदायों को लक्ष्य बनाने वाला बताया।

कई प्लेटफॉर्म पर सक्रिय

dhruv rathee सिर्फ यूट्यूब तक सीमित नहीं हैं। उन्होंने ‘द वायर’ के लिए लेख लिखे हैं, ‘डॉयचे वेले’ के साथ अंतरराष्ट्रीय यात्रा व्लॉग किए हैं, नेटफ्लिक्स इंडिया के लिए ‘डिकोड विद ध्रुव’ शो होस्ट किया है और स्पॉटिफाई पर ‘महा भारत विद dhruv rathee’ नामक पॉडकास्ट चलाते हैं।

हालिया गतिविधियां

हाल ही में, अप्रैल 2024 में dhruv rathee ने पांच नए यूट्यूब चैनल लॉन्च करने की घोषणा की है। ये चैनल तमिल, तेलुगु, बंगाली, मराठी और कन्नड़ भाषाओं में डब किए गए वीडियो पेश करेंगे। dhruv rathee जर्मनी में रहते हैं और नवंबर 2021 में उन्होंने अपनी गर्लफ्रेंड जूली इब्र से शादी की थी।

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- A word from our sponsors -

Most Popular

More from Author

- A word from our sponsors -